Feeds:
Posts
Comments

Posts Tagged ‘Shri’


I dedicate this song today to Our Dear Motherland India, and congratulate all the Indians and our newly sworn-in Prime Minister Shri Narendra Modi….May India attain new heights under your able guidance. I am really thankful to my friend Dr.Sonu Juneja for the beautiful pictures of Ganga Aarti…The lyrics of the song are…

Hothon Pe Sachchaai Rahati Hai
Jahaan Dil Men Safaai Rahati Hai
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain,
Ham Us Desh Ke Vaasi Hai.N
Jis Desh Men Gangaa Bahati Hai

(Mehamaan Jo Hamaara Hota Hai
Vo Jaan Se Pyaara Hota Hai)- 2
Zyaada Ki Nahin Laalach Ham Ko
(Thode Me Guzaara Hota Hai)- 2
Bachchon Ke Liye Jo Dharati Maan
Sadiyon Se Sabhi Kuchh Sahati Hai
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain,
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain
Jis Desh Men Ganga Bahati Hai

(Kuchh Log Jo Zyaada Jaanate Hain
Insaan Ko Kam Pahachaanate Hain)-2
Ye Purab Hai, Purabvaale
(Har Jaan Ki Kimat Jaanate Hain)- 2
Mil Jul Ke Raho Aur Pyaar Karo
Ek Chiz Yahi Jo Rahati Hai
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain,
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain
Jis Desh Men Ganga Bahati Hai
Hothon Pe Sachchaai Rahati Hai…

(Jo Jisase Mila Sikha Hamane
Gairon Ko Bhi Apanaaya Hamane)- 2
Matalab Ke Liye Andhe Hokar
(Roti Ko Nahi Puja Hamane)- 2
Ab Ham To Kya Saari Duniya
Saari Duniya Se Kahatii Hai
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain,
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain
Jis Desh Men Ganga Bahati Hai

Hothon Pe Sachchaai Rahati Hai
Jahaan Dil Men Safaai Rahati Hai
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain,
Ham Us Desh Ke Vaasi Hain
Jis Desh Men Ganga Bahati Hai

***************************************

होठों पे सच्चाई रहती है
जहाँ दिल में सफ़ाई रहती है
हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं \-२
जिस देश में गंगा बहती है

(मेहमां जो हमारा होता है
वो जान से प्यारा होता है)- २
ज़्यादा की नहीं लालच हमको
(थोड़े मे गुज़ारा होता है)- २
बच्चों के लिये जो धरती माँ
सदियों से सभी कुछ सहती है
हम उस देश के वासी हैं,
हम उस देश के वासी हैं
जिस देश में गंगा बहती है

(कुछ लोग जो ज़्यादा जानते हैं
इन्सान को कम पहचानते हैं)- २
ये पूरब है पूरबवाले
(हर जान की कीमत जानते हैं)- २
मिल जुल के रहो और प्यार करो
एक चीज़ यही जो रहती है
हम उस देश के वासी हैं,
हम उस देश के वासी हैं
जिस देश में गंगा बहती है
होठों पे सच्चाई रहती है…

(जो जिससे मिला सिखा हमने
गैरों को भी अपनाया हमने)- २
मतलब के लिये अन्धे होकर
(रोटी को नही पूजा हमने)- २
अब हम तो क्या सारी दुनिया
सारी दुनिया से कहती है
हम उस देश के वासी हैं,
हम उस देश के वासी हैं
जिस देश में गंगा बहती है

होठों पे सच्चाई रहती है
जहां दिल में सफ़ाई रहती है
हम उस देश के वासी हैं,
हम उस देश के वासी हैं
जिस देश में गंगा बहती है

Read Full Post »